सुखद अनुभूति ,कोरोना मरीजों की संख्या में आई गिरावट : डीसी भिवानी

445
SHARE

स्वास्थ्य विभाग ने टेस्ट-टै्रक-ट्रीट के मजबूत प्लान पर किया काम।

भिवानी हलचल 05जून 2021 : जिले में शनिवार को 80 कोरोना पॉजिटिव ठीक हुए हैं, जबकि 20 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। अब जिले में कोरोना के 410 एक्टिव केस है। वहीं भिवानी जिले में शनिवार को 05 कोरोना संक्रमितों मौत दर्ज की गई.

कोरोना संक्रमण से जनमानस को बचाने के लिए ग्राम स्तर पर आवश्यक स्वास्थ्य इंतजाम उपलब्ध करवाते हुए जिला प्रशासन ने मजबूत सुरक्षा तंत्र स्थापित किया। जहां बीमार वहीं उपचार के मूल मंत्र पर काम करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में नागरिकों का स्वास्थ्य परीक्षण करवाया गया। सरकार की टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट के मजबूत प्लान के तहत ग्रामीण स्तर पर मजबूत स्वास्थ्य सुरक्षा तंत्र तैयार किया गया। उसी का नजीता रहा है कि जिला में संक्रमण की दर कम हुई है और ठीक हुए मरीजों की संख्या बढ़ती गई है।
जिला में हरियाणा विलेज जनरल हेल्थ चेकअप स्कीम (एचवीजीएचसीएस) के तहत लगभग 10 लाख 19 हजार नागरिकों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है। ग्रामीण सर्वे में दो लोख 30 हजार 945 परिवारों की जांच की गई है। इसके लिए जिला में गठित टीमों ने डोर टू डोर जाकर काम किया है। ग्रामीण स्तर पर मजबूत स्वास्थ्य सुरक्षा तंत्र के कारण मरीजों की संख्या में कमी हुई है।
उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने बताया कि गांवों में गठित फील्ड टीमों ने गांवों का सर्वे पूर्ण कर लिया है। कोरोना संक्रमण की जांच में पॉजिटिव पाए गए केसों को विलेज हैडक्वार्टर टीम ने होम आइसोलेशन के लिए भेजा दिया। गंभीर मरीजों को सीएचसी व डीएच सैंटरों पर भर्ती भी करवाया गया।
उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा ग्रामीण स्तर पर सर्वे कार्य के लिए घर-घर जाकर सर्वे का काम किया और अगर कोई व्यक्ति कोरोना संदिग्ध पाया तो उसे गांव हेडक्वार्टर टीम के पास स्वास्थ्य जांच व उपचार के लिए भेजा। उन्होंने बताया कि गांव स्तर पर गठित इन टीमों ने सभी गांवों में घर-घर जाकर परिवार के सभी सदस्यों के बारे में स्वास्थ्य संबंधि जानकारी प्राप्त की है और उनका ऑक्सीजन लेवल भी चेक किया। सर्वे टीम ने ग्रामीणों को कोविड नियमों व उचित व्यवहार के बारे में जागरूक किया। परिवार के हर सदस्य का कोरोना के लक्षण जैसे सिर दर्द, बुखार, सूखी खांसी, बदन दर्द समस्याओं बारे जानकारी प्राप्त की गई।
उपायुक्त ने बताया कि सर्वे में लोगों के स्वास्थ्य बारे संपूर्ण जानकारी प्राप्त होने के बाद जिन मरीजों के पॉजिटिव केस पाए गए, उन सभी को होम आइसोलेशन में रखकर स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन अनुसार ट्रीटमेंट दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस सर्वे का संक्रमण चेन तोडऩे में बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका है। स्वास्थ्य विभाग को ग्रामीण क्षेत्र के हर व्यक्ति के स्वास्थ्य का डाटा मिल गया और ट्रेक हुए सभी मरीजों का इलाज समय पर शुरू हो पाया।