यमुना का पानी गांवों में घुसा,आर्मी ने 731 छात्राएं रेस्क्यू की

382
SHARE

चंडीगढ़।

यमुना का पानी गांवों में घुस गया है। यमुनानगर के अलावा करनाल और पानीपत के गांवों में यह पानी पहुंच गया है। पानीपत में इस पानी की वजह से गौशाला डूब गई। इस दौरान कुछ गायों की मौत भी हो गई। शाम तक यह पानी सोनीपत और फिर दिल्ली पहुंचेगा। वहीं आज भी 3 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट है। इनमें अंबाला, करनाल और पंचकूला शामिल हैं।

लगातार बारिश से हरियाणा की जीटी रोड बेल्ट ज्यादा प्रभावित हुई। यहां करीब 9 जिलों के 600 गांव पानी से प्रभावित हैं। सबसे बुरी हालत अंबाला की है, जहां अभी भी 40% हिस्से में पानी भरा हुआ है। इसे देखते हुए अंबाला में स्कूलों की छुट्‌टियां 15 जुलाई तक बढ़ा दी गई हैं। पहले यह 12 जुलाई तक थी।

बारिश और बाढ़ से सबसे ज्यादा अंबाला जिले में हालात खराब हैं। यहां 3 दिन में 451 मिलीमीटर बारिश होने से शहर का 40 प्रतिशत हिस्सा डूब गया है। हालात ज्यादा खराब होने पर प्रशासन ने सेना की मदद ली है। कई इलाके ऐसे हैं, जहां लोगों ने घर की छत पर शरण ली।

देर रात तक NDRF, SDRF और पुलिस ने 2 हजार लोगों का रेस्क्यू करके सुरक्षित जगह पहुंचाया। अंबाला के चमन वाटिका स्कूल में फंसी 731 छात्राओं को सेना के जवानों ने रेस्क्यू किया।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal