बिना परिसिमन के लोकसभा क्षेत्र का मुख्यालय बदलना पूरी तरह से अनैतिक : सत्यजीत पिलानिया

61
SHARE

भिवानी :

बिना परिसिमन के प्रशासनिक स्तर पर भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र का नाम चुनाव आयोग द्वारा महेंद्रगढ़-भिवानी लोकसभा क्षेत्र किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। जिला बार एसोसिएशन ने वीरवार को ही चुनाव आयोग को संदेश भेजकर अपना विरोध दर्ज करवा दिया गया था। बिना परिसिमन के लोकसभा क्षेत्र का मुख्यालय बदलना तर्क संगत नहीं है। यह बात जिला बार एसोसिएशन के प्रधान सत्यजीत पिलानिया ने शुक्रवार को बार एसोसिएशन के परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि अगर राजनीतिक पृष्ठभूमि देखी जाए तो भिवानी व दादरी जिला इस मामले में मजबूती के साथ खड़ा रहा है।

ऐसे लोकसभा क्षेत्र का नाम बदलना पूरी तरह से अनैतिक है। संविधान व नियमों की उल्लंघना नहीं की जा सकती, लेकिन सरकार अपनी मनमानी करके इस प्रकार के आदेश पारित कर रही है। बता दे भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र का प्रशासनिक मुख्यालय पहले भिवानी में होता था, जिसे अब महेंद्रगढ़ जिला में स्थानांतरित किए जाने की बात कही गई है। इसके विरोध में जिला बार एसोसिएशन के प्रधान सत्यजीत पिलानिया ने कड़ी टिप्प्णी की।

इस दौरान उनके समर्थन मे भिवानी, लोहारू, सिवानी, तोशाम, दादरी सभी बार एसोसिएशन ने प्रस्ताव पास करके आपत्ति दर्ज कराई है तथा निर्वाचन आयोग नई दिल्ली के सचिव को पत्र भेजा। पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए पिलानिया ने कहा कि महेंद्रगढ़ जिला में प्रशासनिक मुख्यालय को लेकर पहले से ही रस्सा-कस्सी चल रही है। वर्षो से जिला महेंद्रगढ़ का प्रशासनिक मुख्यालय नारनौल में है। अब इस मुख्यालय को नारनौल से महेंद्रगढ़ स्थानांतरित करने के लिए प्रक्रिया चली तो इसका व्यापक स्तर पर नारनौल व आस-पास के इलाकों में विरोध होने लगा। जब प्रशासनिक स्तर के मुख्यालय को लेकर रस्सा-कस्सी चल रही है। ऐसे में भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र का मुख्यालय बदलना किसी भी नीति से तर्क संगत नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार को स्थिति को समण्ना चाहिए और समय रहते उचित निर्णय लेना चाहिए, ताकि आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रशासनिक गतिविधियां किसी प्रकार से प्रभावित ना हो। पिलानिया ने कहा कि अगर इस प्रकार की नीति को जबरदस्ती की गई तो इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि यदि चुनाव आयोग इस मुद्दे को लेकर अड़ा रहा तो वे भिवानी व दादरी जिला की आमजन के बीच जाकर इसे मुद्दे को प्रमुखता से उठाएंगे तथा आमजन को इस बारे जागरूक करेंगे। इस अवसर पर सज्जन खनगवाल, जसवंत चांगिया, दिनेश परमार, पीयूष वर्मा, संजय तंवर, मुकेश गुलिया, रमेश सांगवान, विकास बुडानिया, अमित ढुल, रविंद्र ग्रेवाल, अनिल साहु, अरविंद बैराण, जैमल सिंह, हरेंद्र भालोठिया, रामोतार संभ्रवाल, विजय गढ़वाल, कृष्ण मलिक, अविनाश तंवर, राजपाल यादव, अजय यादव, राकेश ओबरा सहित अन्य अधिवक्तागण मौजूद रहे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे Subscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal