युवक को इंस्टाग्राम पर लड़की बन फंसाया,डर से 3.13 लाख ट्रांसफर किए

618
SHARE

फरीदाबाद

फरीदाबाद पुलिस ने इंस्टाग्राम पर लड़की के नाम से फेक आईडी बनाकर साइबर ठगी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी को दिल्ली के गौतमबुद्ध नगर से पकड़ा गया है। आरोपी ने इंस्टाग्राम पर युवक से दोस्त की। इसके बाद आईडी वाली लड़की के मर्डर का आरोप लगाकर 3.13 लाख की ठगी कर ली। युवक से 2 मोबाइल, 3 सिम, HDFC डेबिट कार्ड, एक लाख 5 हजार कैश बरामद किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी दिलशाद हुसैन उर्फ दिल्लू उर्फ कादर बिहार के गोपाल गंज जिले के कपुरचिक गांव का रहने वाला है। वह वर्तमान में गांव सुरजपुर गौतमबुद्ध नगर में रह रहा है। आरोपी नेट या वॉट्सऐप कॉलिंग कर ब्लैकमेल करता है। आरोपी पुलिस अधिकारी/कस्टम अधिकारी व अन्य जांच एजेंसी के अधिकारी बनकर तथा बैकग्राउंड में पुलिस स्टेशन या अन्य किसी ऑफिस का क्रिएट कर ठगी की वारदात को अंजाम देता है।

अब पढ़ें इंस्टाग्राम पर युवक को कैसे फंसाया
22 सितंबर को इंस्टाग्राम पर शिकायतकर्ता कमल के पास अंजलि नाम की लड़की की फ्रेंड रिक्वट आई। कमल की लड़की बने दिलशाद से चैट होने लगी। करीब 5-7 दिन चैट होने पर आरोपी ने कमल से मिलने की बात कही और बताया कि वह हॉस्टल में रहती है। उसने फोन नम्बर मांगा और 21 सितम्बर को मिलने के लिए कमल को बदरपुर बॉर्डर पर बुलाया। कमल काफी देर इंतजार करता रहा, लेकिन कोई नहीं आया।

कमल ने कॉल की तो उसने बताया कि वह वापस चली गई है और आज नहीं मिल सकती। कमल भी वापस अपने घर चला गया। उसी दिन शाम को कमल के पास दिलशाद ने फोन किया वह अंजलि का हॉस्टल इंचार्ज बोल रहा है। उसने कहा कि अंजलि हॉस्टल से भाग गई है और तुम्से मिलने गई थी। उसका मर्डर हो गया है जो कमल ने किया है।

DSP बनकर एक लाख रुपए मांगे
इसके बाद कॉल करने वाले ने मर्डर वाली बात किसी को न बताने पर उससे 20 हजार मांगे। कमल ने डर की वजह से 15 हजार आरोपी को ट्रांसफर कर दिए। फिर 22 सितंबर को दिलशाद ने DSP राहुल बनकर कमल से बात की और कहा कि अंजलि का मर्डर तुमने किया है। तुझे घर से उठा लेंगे और तुझे फांसी हो जाएगी। अगर बचना चाहता है तो एक लाख रुपए देने होंगे, मैं तुझे कुछ नहीं होने दूंगा। कमल डर गया और इंस्टाग्राम आईडी को बदल दिया। फिर भी एक फोन से धमकी भरे फोन आते रहे और जान से मारने की धमकी भी आने लगी।

आरोपी ने एक एचडीएफसी बैंक का खाता नंबर भेजा और पैसे मांगने लगे। डर के कारण कमल ने अलग अलग ट्रांजेक्शन कर पैसे भेजे। फिर भी आरोपी के धमकी भरे फोन आते रहे तो पीडित कमल ने भाई के खाते से भी ट्रांजेक्शन कर पैसे भेजे। ठगी का अहसास होने पर कमल ने साइबर थाना NIT को मामले की शिकायत दी।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिककरे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal