हनीट्रैप गिरोह को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर प्रदर्शन, लोगों ने एसपी आवास के सामने जमकर काटा बवाल

99
SHARE

जींद।

हनीट्रैप में फांस लोगों को ब्लैकमेल करने वाले गिरोह को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर पीड़ित व्यक्ति के परिजनों ने एसपी आवास के सामने जमकर बवाल काटा। परिजनों की पुलिसकर्मियों के साथ तीखी नोकझोंक भी हुई। पुलिस ने परिजनों को वहां से हटाया तो एसपी कार्यालय पहुंच गए और डीएसपी को भी खूब खरी खोटी सुनाई। डीएसपी ने बुधवार को सबूतों के साथ पीड़ित के परिजनों को बुलाया तो परिजनों ने आने से इंकार करते हुए एसपी कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए। परिजनों ने पुलिस पर गिरोह के सदस्यों के साथ मिलीभगत करने का आरोप लगाते हुए पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। गांव सुरबूरा निवासी राजेश के परिजन व रिश्तेदार बुधवार को पटियाला चौक पर एकत्रित हुए। राजेश की पत्नी बीना ने बताया कि उसके पति राजेश को पटियाला चौक निवासी मुस्कान उर्फ निशा ने अपने जाल में फांस कर कुछ लोगों के साथ मिलकर ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। उसके पति से लाखों रुपये की डिमांड की गई। डिमांड पूरी न करने पर मुकदमें में फंसा जेल भिजवाने की धमकी दी गई। मामले को लेकर सौदेबाजी हो रही थी तो परिजनों ने उसकी रिकॉडिंग तथा वीडियो बना ली। ब्लैकमेल करने की शिकायत शहर थाना पुलिस को दी गई। इसी बीच मुस्कान व उसके गिरोह के लोगों ने उसके पति राजेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया। बाद में पुलिस ने गत 18 जनवरी को उसकी शिकायत पर मुस्कान, उसकी मां कमलेश, चांदराम, पवन उर्फ सोनी व कुछ अन्य लोगों के खिलाफ चौथ मांगने, ब्लैकमेल करने, महिला सेफ्टी कानून का दुरूपयोग करने का मामला दर्ज किया था।पुलिस ने उसके पति को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन हनीट्रैप में फांसने वाले गिरोह को तीन माह बाद भी गिरफ्तार नहीं किया गया, जबकि वह लगातार अधिकारियों की चौखट पर दस्तक दे चुकी है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal