प्रदेश स्तरीय पशु मेले में निकाले जाएंगे 50 लाख रुपए के ईनाम: डॉ. सुखदेव राठी

171
SHARE

भिवानी।

पशु पालन विभाग द्वारा चरखी दादरी में निर्माणाधीन लघु सचिवालय के पास 11 से 13 मार्च तक 39 वां प्रदेश स्तरीय पशु मेला आयोजित किया जा रहा है। राज्य स्तरीय पशु मेले में 50 लाख रुपए के ईनाम निकाले जाएंगे, जिसमें ट्रैक्टर, बुलेट मोटरसाईकिल, स्कूटी, दूध निकालने की मशीन आदि शामिल हैं। प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले पशुओं के मालिक को लाखों रूपए के ईनाम दिए जाएंगे। पशु मेले में उत्तम नस्ल के पशु शामिल होंगे। पशु मेले में सुप्रसिद्घ कलाकारों द्वारा शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी।
ये जानकारी देते हुए पशु मेले के नोडल अधिकारी डॉ. सुखदेव राठी ने पशु मेले को लेकर स्थानीय हांसी रोड़ पर स्थित लिब्रा गेस्ट हाऊस में पशु चिकित्सा अधिकारियों की बैठक में दी। उन्होंने कहा कि पशु पालन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के कृषि एवं पशु पालन मंत्री जेपी दलाल द्वारा चरखी दादरी में 39 वां पशु मेला आयोजित किया जा रहा है। पशु मेले में प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल विजेता पशु पालकों को पुरस्कार देंगे। उन्होंने बताया कि इस पशु मेले में प्रदेशभर से एक से बढकर एक उत्तम नस्ल के पशु देखने को मिलेंगे, जिससे पशुपालकों के साथ-साथ मेले में आने वाले आमजन को पशुपालन से संबंधित नई जानकारी मिलेगी। बैठक के दौरान डॉ. राठी ने पशु मेले के लिए पशु चिकित्सकों की ड्यूटी भी लगाई। उन्होंने कहा कि पशु पालकों को पशु मेले में शामिल करने के लिए बसें जाएंगी, जिनका बाकायदा रूट बनाकर जिम्मेदारी सौंपी जा चुकी है। उन्होंने निर्देश देते हुए कि सभी पशु चिकित्सक अपनी-अपनी ड्यूटी पूरी गंभीरता से लें। कोई भी अपनी ड्यूटी में किसी प्रकार की कोई लापरवाही न बरतें।
नोडल अधिकारी डॉ. राठी ने कहा कि पशु-प्रदर्शनी के दौरान गाय, भैंस, बैल, खागड़, भेड़, बकरी, मेंढ़े, ऊंट, घोड़े, सूअर व गधों, मुर्राह नस्ल, हरियाणा नस्ल, साहीवाल व विदेशी गायों की करीब 50 प्रकार की प्रतियोगिता करवाई जाएंगी। पशु मेले में ऊंटों, घोड़ों के शानदार करतब भी दिखाए जाएंगे। मेले में पशुओं की रैंप पर कैटवाक भी देखने को मिलेगी।
नोडल अधिकारी डॉ. सुखदेव राठी ने बताया कि पशु मेले में करीब 1700 उत्तम नस्ल के पशुओं को शामिल करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें भिवानी जिले का टारगेट 350 पशुओं को शामिल करने का है। उन्होंने बताया कि पशु में शामिल होने वाले पशु मालिकों के लिए रहने, भोजन आदि की समुचित व्यवस्था की गई है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal