संत गुरु रविदास और डॉ. अंबेडकर ने समाज में नई चेतना जागृत करने का काम किया: डॉ. बनवारी लाल

213
SHARE

भिवानी।

प्रदेश के सहकारिता तथा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि संत शिरोमणि गुरु रविदास और संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीम राव अंबेडकर ने समाज में नई चेतना जागृत करने का काम किया। उन्होंने कहा कि महापुरुषों की याद में समारोह के आयोजन तभी सार्थक होते हैं, जब उनके द्वारा दी गई शिक्षा को जीवन में धारण करें। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद लोगों आह्वïान किया वे विशेषतौर पर अपने नौजवान बच्चों को किसी भी प्रकार के नशे से दूर रखें और उनको उच्च शिक्षित करने का काम करें। शिक्षा ही उन्नति का आधार है।
जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बनवारी लाल शनिवार को गांव चांग स्थित सत साहेब आश्रम में गुरु रविदास के 646 वें प्रकाशोत्सव को समर्पित एक कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने गुरु रविदास मंदिर की आधारशिला रखी और मंदिर निर्माण के लिए 11 लाख रुपए देने की घोषणा की। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि संत गुरु रविदास ने अपनी वाणी से समाज को एकरूपता में पिरौने का काम किया। संत गुरु रविदास चाहते थे कि समाज ऐसा होना चाहिए जहां किसी प्रकार का भेदभाव न हो, सब समान हो, कोई भूखा न रहे और सभी को अन्न मिले। संत गुरु रविदास की तरह ही डॉ. भीमराव अंबेडकर ने समाज को शिक्षित बनने, संगठित रहने और संघर्ष करने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि संत-महापुरुष किसी एक विशेष जाति या समाज के नही होते। उनकी शिक्षाएं हर समाज के लिए होती हैं। हमेंं संत-महापुरुषों की शिक्षाओं को अपने जीवन में धारण करना चाहिए,तभी महापुरुषों की याद में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम सार्थक होंगे।
प्रदेश के सहकारिता तथा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि समाज में समरसता लाने को लेकर ही प्रदेश सरकार द्वारा संत-महापुरुषों की जयंती सरकारी तौर पर आयोजित की जा रही हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार विशेषतौर पर अनुसूचित जाति वर्ग के जीवन उत्थान के लिए निरंतर योजनाएं लागू कर रही है। सरकार संत-महापुरुषों की वाणी को प्रदेश में साकार कर रही है। प्रदेश में गरीब लोगों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत खंड स्तर पर मेलों का आयोजन कर पात्र व जरूरतमंद लोगों को रोजगार के लिए ऋण मुहैया करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जहां वर्ष 2014 से पहले अंबेडकर पुर्नवास योजना में सहायता राशि केवल 25 हजार थी, प्रदेश की भाजपा सरकार ने इसे बढाकर 50 हजार रुपए और इसके बाद अब हाल ही में 80 हजार कर दिया है। इसके साथ ही सरकार ने मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना राशि को भी बढाया है। प्रदेश के एक लाख 80 हजार रुपए से कम वार्षिक आय वाले परिवार के बच्चों की 12 वीं तक कि स्कूल फीस भी माफ कर दी गई है। पुस्तकें फ्री दी जाती हैं। इसके साथ ही वर्दी भी नि:शुल्क दी जाती है। ऐसे गरीब परिवारों की बेटियों की कॉलेज और यूनिवर्सिटी की फीस भी माफ की गयी है। उन्होंने अपने संबोधन के माध्यम से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए आहवान के अनुरूप ही युवाओं से स्वरोजगार अपनाने को कहा। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार सस्ती दरों पर ऋण मुहैया करवा रही है। एसी वर्ग को उद्योग स्थापित करने के लिए जमीन ें 20 प्रतिशत सस्ती दर पर उपलब्ध करवा रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार परिवार पहचान पत्र के माध्यम से पंक्ति में खंडे अंतिम जरूरतमंद व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचा रही है। प्रदेश में गरीब लोगों के चिरायु कार्ड बनाए जा रहे हैं, जिससे वे सरकारी या किसी भी पैनल पर लिए गए अस्पताल में एक साल में पांच लाख रुपए तक इलाज फ्री ले सकते हैं। इससे गरीब आदमी को बहुत बड़ी राहत मिली है। उन्होंने कहा कि संत-महापुरुषों को सम्मान देने की कड़ी में ही प्रदेश सरकार ने जिला फतेहाबाद में बनने वाले मेडिकल कॉलेज नाम संत गुरु रविदास के नाम पर रखा है। इसी प्रकार से पिपली में संत गुरु रविदास के नाम से छात्रावास और स्मारक बनाया जाएगा।
कार्यक्रम को सत साहेब आश्रम के महंत स्वामी मंगलानंद महाराज, सरपंच सुदेश रानी, सरपंच प्रतिनिधि प्रदीप, बीडी भानखड़, ओपी मेहरा व दीपक मित्तल ने भी संबोधित किया। जिला पार्षद पूनम प्रतिनिधि बंटी तंवर ने मंदिर निर्माण में पांच लाख रुपए तथा दीपक मित्तल ने निर्माण कार्य में प्रयोग होने वाली संपूर्ण सीमेंट देने की घोषणा की।
कार्यक्रम के दौरान जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बनवारी लाल का भिवानी के अलावा हांसी, हिसार, दादरी, रोहतक व जींद से गुरु रविदास सभा, डॉ. अंबेडकर सभा, वाल्मीकि सभा, यादव सभा, ओड सभा, प्रजापत सभा, पंजाबी सभा व राजपूत सभा आदि दो दर्जन से अधिक सामाजिक संस्थाओं ने शॉल, पगड़ी, सरोपा व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।
कार्यक्रम में भिवानी से जिला बाल कल्याण अधिकारी ओमप्रकाश बिबयान, जींद से अनिल सिंगला, हिसार से विनोद कुमार व रोहतक से बाल कल्याण अधिकारी सोमदत्त खुंडिया, धमतान साहिब से सेवाराम, सेवानिवृत डीएसपी नारायणचंद, सेवानिवृत एएसपी आजाद सिंह बिबयान, मास्टर रामकिशन, बृजलाल रंगा, रमेश आहलान, आजाद संभ्रवाल, जयवीर नाफरिया, भूप सिंह रंगा, एडवोकेट मांगेराम तोंदवाल, चिरंजीलाल सांवरिया, नरेंद्र कांटीवाल, चरण सिंह दहिया, रोशनलाल, बलजीत दहिया, पूर्व सरपंच सुरेश कुमार व देवेंद्र कालड़ा, मास्टर हरि सिंह, गजराज जोगपाल, दयाल सिंह, आजाद वाल्मीकि, प्रवीण बीडीसी, सरपंच तोशाम राजेश कुमार, जिला परिषद सदस्य राज ढाणी माहू व शिव कुमार ग्रेवाल सहित अनेक गणमान्य नागरिक मौजदू रहे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal