सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के आरोपी काबू

101
SHARE

रेवाड़ी।

राजस्थान में राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के आरोपी चंडीगढ़ के सेक्टर 24 के होटल कमल रिसॉर्ट नाम के गेस्ट हाउस में छिपे थे। यहां से इन्हें शनिवार रात को दिल्ली क्राइम ब्रांच और राजस्थान पुलिस की टीम पकड़कर ले गई।

इनमें गोगामेड़ी को गोली मारने वाले शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौड़ के अलावा उनका साथी उधम भी शामिल है। गेस्ट हाउस में तीनों आरोपी नाम बदलकर छिपे हुए थे। उन्होंने अपने नाम दविंदर कुमार, जयवीर सिंह और सुखबीर सिंह रखे हुए थे। इसके लिए उन्होंने फर्जी आधार कार्ड दिए थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक गोगामेड़ी की हत्या के बाद शूटर नितिन फौजी और रोहित ठाकुर राजस्थान के डीडवाणा से चुरू-दिल्ली रोडवेज बस में बैठे। नेशनल हाईवे पर रेवाड़ी के धारूहेड़ा कस्बे में सुबह उतरे।

उसके बाद ये किसी गाड़ी से रेवाड़ी रेलवे स्टेशन पहुंचे। यहां से ये हिसार की ट्रेन में पहुंचे। हिसार में ही यह CCTV फुटेज में दिखे। जिससे पुलिस को लीड मिली और वह इनके पीछे लग गई। इसके बाद वह मनाली गए। वहां से कल शनिवार को जब चंडीगढ़ आए तो पकड़े गए।

होटल के मैनेजर रवि ने कहा कि 3 युवक होटल में आए थे। उन्होंने आते ही उन्हें डराया-धमकाया। इसके बाद उनसे फोन छीन लिया और CCTV कैमरे बंद करवा दिए। इनमें से एक के पास बैग था, जबकि 2 खाली थे। वह होटल में 15 से 20 मिनट रुके। इसके बाद पुलिस आई और उन्हें पकड़कर ले गई

शूटर्स ने हत्या करने के बाद हथियारों को छुपा दिया था, ताकि भागते समय ट्रेन या बस में चेकिंग के समय न पकड़े जा सकें, मगर आरोपी शूटर्स फरारी के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे थे। शूटर्स गैंगस्टर रोहित गोदारा के राइट हैंड वीरेंद्र चौहान और दानाराम के संपर्क में थे।

उन्होंने वीरेंद्र चौहान और दानाराम के इशारे पर ही हत्या को अंजाम दिया था। हत्या करने के बाद दोनों शूटर्स वीरेंद्र चौहान और दानाराम से लगातार बात कर रहे थे। इसके बाद पुलिस ने इनकी टेक्निकल सर्विलांस शुरू कर दी। इसके बाद चंडीगढ़ पहुंचते ही इन्हें पकड़ लिया गया।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal