किसान आंदोलन के 5वें दिन हरियाणा में ट्रैक्टर मार्च

78
SHARE

अंबाला।

किसान आंदोलन का आज (17 फरवरी) को 5वां दिन है। पंजाब के किसान दिल्ली जाने की जिद को लेकर शंभू बॉर्डर पर डटे हुए हैं। इस आंदोलन के दौरान हार्ट अटैक से एक किसान और दम घुटने से एक सब इंस्पेक्टर की मौत हो चुकी है। कुरुक्षेत्र में पिहोवा की अनाज मंडी से भारतीय किसान यूनियन चढ़ूनी के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी ने ट्रैक्टर मार्च की अगुवाई की।

पंजाब का सबसे बड़ा किसान संगठन BKU (उगराहां) भी आंदोलन में कूद गया है। यूनियन ने शनिवार से 2 दिन के लिए पंजाब में सभी टोल फ्री करा दिए हैं। पंजाब भाजपा प्रधान सुनील जाखड़, पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह और बरनाला में BJP नेता केवल ढिल्लों के घर के बाहर किसानों ने तंबू गाड़कर धरना शुरू कर दिया है। हरियाणा में BKU (चढ़ूनी) की तरफ से तहसीलों में ट्रैक्टर मार्च निकाले जा रहे हैं।

वहीं किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के कोऑर्डिनेटर सरवण सिंह पंधेर ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार चाहे तो अध्यादेश लाकर फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी दे सकती है। बाद में संसद में बिल लाकर इसे कानून की शक्ल दे सकते हैं। ऐसा पहले कई मामलों में किया भी जा चुका है।

उधर, किसान संगठनों की मांगों पर कल रविवार (18 फरवरी) को चंडीगढ़ में केंद्रीय मंत्रियों और किसान नेताओं के बीच चौथी वार्ता होगी। इससे पहले हुई 3 वार्ता बेनतीजा रहीं।

पंजाब के बरनाला में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां ने पूर्व विधायक और भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी मेंबर केवल सिंह ढिल्लों के घर के बाहर धरना लगाया। धरना में बड़ी संख्या में किसान और महिलाएं शामिल हुईं।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे Subscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal