बाबा साहेब ने देश के प्रत्येक नागरिक के हित एवं उत्थान के लिए किया था संघर्ष : मांगेराम तोंदवाल

34
SHARE

भिवानी :

देश के महापुरूषों ने अपना पूरा जीवन राष्ट्र की उन्नति एवं नागरिकों के उत्थान के लिए कार्य करने में खपा दिया। इसीलिए महापुरूषों की प्रतिमाएं चौक-चौराहों पर लगाई जाती है, ताकि युवा पीढ़ी को राष्ट्र निर्माण में उनके द्वारा किए गए त्याग एवं बलिदान से रूबरू होने का मौका मिल सकें। लेकिन चौक-चौराहों पर लगी महापुरूषों की प्रतिमाओं को खंडित करना औच्छी मानसिकता का परिचय देना है। ऐसा ही मामला रोहतक जिला के गांव लाहली में सामने आया है, जहां संविधान निर्माता बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा खंडित किया गया। जिसके चलते लोगों में रोष है। इसी कड़ी में मंगलवार को हरियाणा प्रदेश चमार संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने भिवानी के उपायुक्त को मांगपत्र सौंपकर बाबा साहेब की प्रतिमा को खंडित करने वालों पर कड़ी कानूनी किए जाने की मांग की है।

इस मौके पर समिति के प्रदेश अध्यक्ष मांगेराम तोंदवाल ने कहा कि 18 अप्रैल की रात्रि को गांव लाहली में कुछ असामाजिक तत्वों ने बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को खंडित कर दिया। जिससे बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर के दिखाए मार्ग पर चलने वाले अनुयायियों में खासा रोष बना हुआ है। उन्होंने उपायुक्त से मांग की कि ऐसे असामाजिक तत्वों पर कड़ी कानूनी की जानी चाहिए, ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटना फिर से घटित ना हो। प्रदेश प्रवक्ता राजेश चौधरी ने कहा कि बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेडकर ने किसी एक समुदाय विशेष के लिए नहीं, बल्कि हर वर्ग के हित एवं उत्थान की लड़ाई लड़ी थी। उनके द्वारा देश को दिए गए संविधान की बदौलत ही आज देश के प्रत्येक नागरिक को विभिन्न अधिकार प्राप्त है। ऐसे में उनकी प्रतिमा को खंडित भावनाओं को ठेस पहुंचाने के समान है।

इसीलिए ऐसे असामाजिक तत्वों पर सख्त कारवाई किए जाने की जरूरत है। साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि इस मामले में जल्द ही कोई कार्रवाई नहीं हुई तो मजबूरन सडक़ों पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे। इसके उपरांत प्रदेश अध्यक्ष के कार्यालय पर समिति के पदाधिकारियों की बैठक आयोजित हुई जिसमें फैसला लिया गया कि 25 अप्रैल को शहर में संविधान बचाओ-देश बचाओ यात्रा निकालकर राज्यपाल के नाम मांगपत्र सौंपा जाएगा। इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता राजेश चौधरी, हरीश गोच्छी, अधिवक्ता नरेंद्र कांटीवाल, परमजीत छोडक़र, कैप्टन धर्मवीर, जयकिशन चौपड़ा, राजेंद्र पूर्व कस्टम अधिकारी, सीताराम रंगा, डीके आर्य, अधिवक्ता राजकुमार कारवॉश, अधिवक्ता सुरेश विधवान, अधिवक्ता सुशील कांटीवाल, अधिवक्ता अनिल संभ्रवाल, अधिवक्ता कृष्ण खीची, अनिल दहिया, सुनीता, अधिवक्ता भीम सिंह, शिवकुमार बेडवाल, अमित, अधिवक्ता प्रदीप कटारिया, अधिवक्ता राजकुमार कालवास, श्रवण कुमार पूर्व सरपंच धिराणा सहित अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे ubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal