कोविड की बच्चों में संभावित लहर के चलते दिया स्टाफ नर्स को प्रशिक्षण

247
SHARE
चौ. बंसीलाल राजकीय सामान्य अस्पताल में साप्ताहिक प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन दी जरूरी जानकारी
भिवानी हलचल 15 जून।
कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर का बच्चों पर होने वाले प्रभाव के चलते उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य के निर्देशानुसार स्थानीय चौ. बंसीलाल राजकीय सामान्य अस्पताल में साप्ताहिक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण शिविर के दूसरे दिन जिलाभर के सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में कार्यरत स्टाफ नर्स और सिस्टर एटेंटेंड को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण शिविर में सिविल सर्जन डॉ. सपना गहलावत ने भी जरूरी जानकारी दी।
सिविल सर्जन डॉ. गहलावत ने बताया कि प्रशिक्षण शिविर में बताया कि कोविड-19 की तीसरी लहर आने की संभावनाएं जताई जा रही हैं, जिससे सबसे अधिक असर बच्चों पर होना बताया जा रहा है। प्रशिक्षण शिविर में स्टाफ नर्स को बताया कि उनको किस प्रकार से बच्चों का बीपी व प्लसरेट चैक करना है। स्टाफ नर्स को उपचार को दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि निपुण स्टाफ ही अच्छे से उपचार दे सकता है। इस दौरान डॉ. रीटा और डॉ. वेदपाल सहित स्टाफ के अनेक सदस्य मौजूद रहे।
विशेष:
इस दौरान सामान्य अस्पताल में नियुक्त लेखाधिकारी एवं कवि विकास यशकिर्ती ने उनके द्वारा रचित गजल संग्रह की पुस्तक जिंदगी-एक तंग काफिया, सिविल सर्जन डॉ. गहलावत को भेंट की। किर्ती ने सिविल सर्जन को बताया कि इस संग्रह में उनके द्वारा सामाजिक तानेबाने, बेटियों को बचाने व उनको आगे बढ़ाने, निश्तों और देशभक्ति पर रचित कविताएं हैं, जो समाज को संदेश देने का काम करती हैं। उन्होंने कहा कि कविताएं समाज को सही मार्ग दिखाने का काम करती हैं। ये एक तरह से हमारा मार्गदर्शन करती हैं। उन्होंने कहा कि अपनी कविताओं के माध्यम से उन्होंने समाज से ये आह्वान किया है कि वे बेटियों को बचाने के साथ-साथ उनको आगे बढ़ाने का काम करें।