भिवानी में सारी सुविधा तो 100 किमी दूर ब्लैक फंगस का इलाज क्यों: किरण

127
SHARE

भिवानी अस्पताल में ही होना चाहिए ब्लैक फंगस का इलाज

भिवानी, 25 मई।
पूर्व कैबिनेट मंत्री किरण चौधरी ने राज्य सरकार से ब्लैक फंगस पीड़ितों की परेशानी को दूर करने की मांग है। उन्होंने शासन और प्रशासन से पूछा कि भिवानी में जब 500 बेड का हॉस्पिटल है और इसमें सब तरह की सुविधाएं हैं तो फिर लोगों को 100 किलोमीटर दूर अग्रोहा रेफर क्यों किया जा रहा है। यदि ब्लैक फंगस मरीजों का यहां इलाज किया जाए तो इलाके के लोगों को आर्थिक, मानसिक परेशानी और समय की बर्बादी से बचाया जा सके।
मंगलवार को यहां जारी बयान में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता किरण चौधरी ने कहा कि कोरोना के साथ ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों की वजह से प्रदेश में चिंता और डर का माहौल है। महामारी व बीमारी के बीच प्रशासन की अदूरदर्शिता के कारण लोग परेशान हैं। उन्होंने कहा कि भिवानी का जिला अस्पताल में 500 बेड की क्षमता है और लगभग सब जरूरत की सुविधाएं हैं। इसके बावजूद ब्लैक फंगस के मरीज को 100 किलोमीटर दूर अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में रेफर किया जा रहा है। मरीजों को रेफर करने के पीछे ब्लैक फंगस की दवा का यहां उपलब्ध न होना बताया जा रहा है।
उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग की कि ब्लैक फंगस की जरूरी दवाओं का भिवानी अस्पताल में ही इंतजाम कराया जाए, ताकि ब्लैक फंगस पीड़ितों का इलाज़ भिवानी में हो सके और लोग अनावश्यक परेशानी से बच सकें।
कांग्रेस विधायक ने कहा कि अब भी ब्लैक फंगस की दवाइयों की प्रदेश में कमी है। सरकार को इधर-उधर की बातें छोड़कर कोरोना और ब्लैक फंगस जैसी घातक बीमारियों से लोगों को बचाने पर सारा ध्यान लगाना चाहिए।